Delhi, , India
0 टिप्पणी करें | 14 लोगो ने देखा है | 19 मई 13  | Nishant Rai
The peaple think that professionlism is to make more monye how can he make. I think about yourself and his money. But i think professionlism is about make money with make company more profitable and help the employees who is not more efficiant in his profession if you can.

    • इस ब्लॉग के लिए सामाजिक शेयर

पोर्फोलिओ और ब्लॉग
Nishant Rai विभिन्न कंपनियों का अनुसरण करता है, ये कंपनियां और नियोक्ता Nishant के फिर से शुरू देख सकते हैं
सबसे अच्छा नौकरी के अवसर पाने के लिए अपना फिर से शुरू करें अपलोड करें

मुफ्त रजिस्टर करें!