Bareilly, , India
Mechanical Engineering, Content Writing, Engineering
0 टिप्पणी करें | 12 लोगो ने देखा है | 08 अक्तूबर 16  | Shubhendra pratap singh
your thoughts decide your future. every thinghs that you want with pure love are already created in the heart of almighty. so why do you not try to achive it. there is no any giver of happiness & unhappiness.if you think that there is other then it is the product of your ill thoughts .the world is bound by ones own karma. veer bhogya vashundhara

    • इस ब्लॉग के लिए सामाजिक शेयर

पोर्फोलिओ और ब्लॉग
Shubhendra pratap singh विभिन्न कंपनियों का अनुसरण करता है, ये कंपनियां और नियोक्ता Shubhendra के फिर से शुरू देख सकते हैं
सबसे अच्छा नौकरी के अवसर पाने के लिए अपना फिर से शुरू करें अपलोड करें

मुफ्त रजिस्टर करें!